हमारे सम्मान्य समर्थक... हम जिनके आभारी हैं .

शुक्रवार, 19 नवंबर 2010

पुस्तक : चल मेरे घोड़े [ शिशुगीत संग्रह ]

पुस्तक : चल मेरे घोड़े  [ शिशुगीत संग्रह ] 
प्रकाशक : वेदान्त पब्लिकेशंश , बालाजी हॉउस , फ्लेट न बी- ४ , 
२ , पयागपुर हॉउस , बीरवल साहनी मार्ग , लखनऊ - २२६००७
मूल्य :२०  रुपया , संस्करण : २००३ , प्रथम  . 
 
इस पुस्तक में २१ सचित्र  शिशुगीत हैं - हुर्र फुर्र , सूरज दादा , घड़ी , थोडा खाओ , मैच , दौड़ा घोडा , बिल , काश , सात दीदियाँ , शेर दहाड़ा , चल मेरे घोड़े , आयाराम जायाराम  , गुडिया कहाँ चली , बन्दर कहता , होम वर्क , घुमक्कड़ पुल्लू , अगर , ब्रेक फास्ट , गयी बंदरिया , तारे ,  मेरे नाम अनेक . 

इस पुस्तक का विमोचन  उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान , लखनऊ के तत्कालीन उपाध्यक्ष सोम ठाकुर ने २९ फरवरी २००४ को कानपुर में किया था . इस पुस्तक के लिए  भूपनारायण दीक्षित बाल साहित्य पुरस्कार समिति , हरदोई  द्वारा २००४ में  अनुशंशा  पुरस्कार  प्राप्त हो चुका है . 

कोई टिप्पणी नहीं: