हमारे सम्मान्य समर्थक... हम जिनके आभारी हैं .

रविवार, 5 जून 2011

आओ पेड़ लगाएँ




बालगीत :नागेश पांडेय 'संजय '
आओ पेड़ लगाएँ
सारे जग के शुभचिंतक ,
ये पेड़ बहुत उपकारी।
सदा-सदा से वसुधा इनकी
ऋणी और आभारी।
परहित जीने-मरने का 
आदर्श हमें सिखलाएँ।

फल देते, ईंधन देते हैं,
देते औषधि न्यारी।
छाया देते, औ‘ देते हैं
सरस हवा सुखकारी।
आक्सीजन का मधुर खजाना
भर-भर हमें लुटाएँ।

गरमी, वर्षा, शीत कड़ी
ये अविकल सहते जाते,
लू, आँधी, तूफान भयंकर
देख नहीं घबड़ाते।
सहनशीलता, साहस की
ये पूजनीय प्रतिमाएँ।

पेड़ प्रकृति का गहना हैं,
ये हैं श्रृंगार धरा का।
इन्हें काट, क्यूँ डाल रहे
अपने ही घर में डाका।
गलत राह को अभी त्याग कर
सही राह पर आएँ।

15 टिप्‍पणियां:

Er. सत्यम शिवम ने कहा…

bhut sundar aur manbhawan

रावेंद्रकुमार रवि ने कहा…

बहुत बढ़िया रही यह प्रस्तुति!

मनोज कुमार ने कहा…

विश्व पर्यावरण दिवस पर सार्थक प्रस्तुति।

Kailash C Sharma ने कहा…

सार्थक सन्देश देता सुन्दर बाल गीत..

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

पर्यावरण दिवस पर बहुत सुन्दर प्रस्तुति!

Maheshwari kaneri ने कहा…

पर्यावरण दिवस की बहुत बहुत बधाई…. सुन्दर प्रस्तुति

डॉ. नागेश पांडेय "संजय" ने कहा…

आप सभी को भी मेरी हार्दिक बधाई

चैतन्य शर्मा ने कहा…

बहुत सुंदर कविता ......अच्छी बात लिए.....

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ (Zakir Ali 'Rajnish') ने कहा…

अति सुंदर।

---------
मेरे ख़ुदा मुझे जीने का वो सलीक़ा दे...
मेरे द्वारे बहुत पुराना, पेड़ खड़ा है पीपल का।

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ (Zakir Ali 'Rajnish') ने कहा…

अति सुंदर।

---------
मेरे ख़ुदा मुझे जीने का वो सलीक़ा दे...
मेरे द्वारे बहुत पुराना, पेड़ खड़ा है पीपल का।

Kashvi Kaneri ने कहा…

. बहुत ही प्यारी कविता

virendra kumar ने कहा…

पर्यावरण दिवस की बहुत बहुत बधाई.....

अनूषा ने कहा…

सुन्दर गीत है. इस तरह के बालगीत बालमन में विचारशीलता के बीज बोते हैं. इनका महत्व समझना आवश्यक है.

डॉ. नागेश पांडेय "संजय" ने कहा…

फेस बुक पर Raja Lambert की टिप्पणी


your personal site is a wonderful site to see.
I am honoured to be attached to a person like you.
You are an achiever
Its so nice to have you in my prestigious friends list Dr. Nagesh. Hope to have communications with you in future. Best of luck .

डॉ. नागेश पांडेय "संजय" ने कहा…

मैं आप सभी का आभारी हूँ . हार्दिक धन्यवाद .